|| मोर्वी नंदन श्याम की जय ||

निशान कन्या आरती चढ़ा रही है हजारो निशान

हमने तपस्या के बारे में सुन रखा है जो अपने आराध्य को प्रसन्न करने के लिए तन मन से की जाती है | यह तपस्या हमें दुसरो से अलग बनाती है और एक अलग की शक्ति की प्राप्ति कराती है | श्याम बाबा के प्रसिद्ध भक्तो के बारे में आपने जाना होगा और उनके किये गये महान कार्य भी सुन रखे होंगे | पर आज हम जिस श्याम भक्त लड़की की बात करने वाले है वो शायद इस समय सबसे बड़ी तपस्या कर रही है |

श्याम भक्त आरती

श्याम भक्त आरती का परिचय

अजमेर की रहने वाली श्याम भक्त आरती निशान चढाने वाले भक्तो में सबसे ऊपर है | यह अब तक 5000 से ज्यादा निशान रिंग्स से खाटू श्याम जी की यात्रा करके चढ़ा चुकी है | समाज शास्त्र में MA कर चुकी आरती एक निजी अस्पताल में कार्य भी करती थी पर 2010 से श्याम प्रेम का रंग ऐसा चढ़ा की अपने बाबा को रिझाने हर दिन निशान यात्रा करने लगी |

एक से 21 निशान की यात्रा

अपने शुरू के सफ़र में आरती हर दिन एक निशान बाबा श्याम को चढ़ाती थी फिर धीरे धीरे यह सिलसिला पांच निशान फिर 11 निशान तक पहुँच गया | आलम यह है की अब आरती हर दिन 21 निशान खाटू श्याम के मंदिर में चढ़ा रही है |

श्याम भक्त आरती

श्याम बाबा की कृपा से कभी नही पड़ा छाला

आरती बताती है की बाबा को उसकी निशान यात्रा बहुत अच्छी लगती है और वे उसे शक्ति और बल प्रदान करते है | आज तक किसी भी निशान यात्रा में उनके पैर में छाला नही पड़ा | शरीर से पतली से दिखने वाली आरती के ऐसे कारनामे सुनकर मुख से बस एक ही स्वर निकलता है जय श्री श्याम |

रिंग्स से खाटू 17 किमी दिन में दो बार

एक दिन में २ बार निशान यात्रा पूर्ण करती है श्याम भक्त आरती | यह यात्रा 17 किमी की है साथ ही रहते है 21 निशान | यह देखकर मुख से निकलता है : "श्याम भक्त जग में बड़े ,उनको करू प्रणाम " |

आजीवन एक कमरा

ऐसी अनन्य भक्ति को देखकर खाटू धाम में श्याम कीर्तन मंडल की धर्मशाला में उन्हें एक कमरा आजीवन दिया गया है | निशान चढाने के बाद आरती यहा आराम करती है |

पढ़े : कैसे चढ़ाये खाटू श्याम जी को निशान - जाने पूजन विधि और नियम


पढ़े : आमोद बजाज की 1600 की पदयात्रा



जिंदगी तेरी संवर जाएगी श्याम शरण में जाके देख ले

काम बिगरे बन जायेंगे पल में , एक निशान श्याम को चढ़ा कर देख ले |



श्याम बाबा से जुड़े यह लेख भी जरुर पढ़े ..


श्याम बाबा को मोर्विनंदन क्यों कहते है

खाटू श्याम जी के परम भक्त कौन है

कैसे करे श्याम बाबा की पूजा

श्याम बाबा की एकादशी और द्वादशी की महिमा

फाल्गुन मेला 2017

खाटू श्याम मंदिर कमिटी

shri khatu shyam ji