|| मोर्वी नंदन श्याम की जय ||

देवी माँ के लाडले श्री खाटू श्याम

भीम के पौत्र और घटौत्कच और मोर्वी के पुत्र वीर बर्बरीक जी महा तपस्वी थे | उनकी आराध्य देवी माँ कामख्या थी | अपनी घोर तपस्या और आस्था से वे देवी माँ के लाडले थे | माँ कामख्या ने उन्हें वे महाशक्तिशाली तीन बाण प्रदान किये थे जो त्रिलोक विजय दिलवा सकते थे | भगवान श्री कृष्ण ने इसी डर से बर्बरीक का शीश दान मांग लिया था | शीश दान के बाद १४ देवियों ने उनका शीश अमृत के कलश से सींचा और अमर कर दिया | नवरात्रि पर घर में या किसी श्याम मंदिर में स्थापित कर हारे के सहारे के साथ देवी माँ की कृपा के ओर अधिक पात्र बन सकते है |

Amrit on Khatu shyam by goddess


Get HD Photo Through Below Link


"https://drive.google.com/file/d/0B0YuneTDEY7ILXNIZ3NaSnE4Yk0/view



श्याम बाबा से जुड़े यह लेख भी जरुर पढ़े ..


श्याम बाबा को मोर्विनंदन क्यों कहते है

खाटू श्याम जी के परम भक्त कौन है

कैसे करे श्याम बाबा की पूजा

श्याम बाबा की एकादशी और द्वादशी की महिमा

फाल्गुन मेला 2017

खाटू श्याम मंदिर कमिटी

shri khatu shyam ji